Home उत्तर प्रदेश महिला दिवस तभी सार्थक जब सभी महिलायें स्वावलम्बी व आर्थिक रूप से...

महिला दिवस तभी सार्थक जब सभी महिलायें स्वावलम्बी व आर्थिक रूप से सशक्त हों- विमला बाथम

महिलाएं सभी क्षेत्रों में अपना सार्थक योगदान प्रदान कर रहीं-
पुरूष सदस्यों को समाज की सभी महिलाओं को सम्मान प्रदान करने के लिए प्रेरित करना चाहिए

महिलाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर विमला बाथम जी का पत्र


लखनऊ: अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर उत्तरप्रदेश राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा विमला बाथम ने महिलाओं के लिए संदेश पत्र जारी करते हुए शुभकामनाएं प्रेषित किया है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2021 की मैं आप सभी को हार्दिक बधाई देती हूॅं। प्रत्येक वर्ष 08 मार्च अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस को सम्पूर्ण दुनिया की महिलायें धूम-धाम, उत्साह, उल्लास और उमंग से मनाती हैं। 08 मार्च से महिलायें भावनात्मक रूप से जुड़ी हैं। यह दिन उन स्त्रियों की याद दिलाता है जिन्होंने तमाम महिलाओं के अधिकारों के लिए संघर्ष किया था।
08 मार्च का इतिहास लगभग 150 वर्ष पुराना है। सर्वप्रथम 1910 में रूस के एक अन्तर्राष्ट्रीय अधिवेशन में 08 मार्च को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा गया। 1911 से कई यूरोपियन देशों में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। यूरोप, नार्वे, स्पेन, इटली, ईरान सभी देशों में महिलाओं ने अपने अधिकारों की जंग 08 मार्च से ही प्रारम्भ की थी।
इस अवसर पर मैं प्रदेश की सभी महिलाओं को भरोसा दिलाना चाहती हूँ कि उ.प्र. राज्य महिला आयोग उनकी मदद के लिए निरन्तर प्रयत्नशील है। आयोग प्रदेश की महिलाओं के प्रति घटित होने वाले अपराधों की रोकथाम, दोषियों के खिलाफ त्वरित व कड़ी कार्यवाही कराने के साथ-साथ आर्थिक सशस्त्रीकरण, शिक्षा व स्वास्थ्य के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है।
यह दिन नारी सशक्तीकरण का पर्याय बन गया है। आज सम्पूर्ण विश्व में 08 मार्च अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है।
महिला दिवस पूर्ण रूप से तभी सार्थक होगा जब सभी महिलायें स्वावलम्बी बने आर्थिक रूप से सशक्त हो। महिला आयोग एवं अन्य विभिन्न संस्थायें महिला को सशक्त बनाये जाने में प्रभावी भूमिका का निर्वाहन कर रहे हैं। आज महिलाएं सभी क्षेत्रों में अपना सार्थक योगदान प्रदान कर रही हैं। इसकी शुरूआत सर्वप्रथम हमें अपने घरों से करनी चाहिए तथा घर के सभी पुरूष सदस्यों को समाज की सभी महिलाओं को सम्मान प्रदान करने के लिए प्रेरित करना चाहिए।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

निषाद पार्टी के शीर्ष पदाधिकारियों का स्वागत अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कार्यालय में हुआ

भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख सहयोगी दल निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद व सांसद प्रवीण निषाद, महेन्द्र निषाद का...

उत्तरप्रदेश के गवर्नर व सीएम ने किया राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भव्य स्वागत

राष्ट्रपति के जनपद कानपुर नगर आगमन पर कानपुर सेण्ट्रलरेलवे स्टेशन पर राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने उनका स्वागत किया

उत्तरप्रदेश अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष व सदस्यों का हुआ पुनर्गठन– नन्दी

अल्पसंख्यक आयोग के नवनियुक्त अध्यक्ष व सदस्यों की सूची आगरा के अश्फाक सैफी को अल्पसंखयक आयोग का...

उत्तरप्रदेश: आईआईटी- बीएचयू में स्थापित होगी सड़क अनुसंधान प्रयोगशाला

आईआईटी (बीएचयू) और जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट लिमिटेड (जीआरआईएल) ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किएलखनऊः भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (काशी हिंदू विश्वविद्यालय), वाराणसी और...

Recent Comments