Home उत्तर प्रदेश चित्रकूट: राम हमारी आस्था और विश्वास के केंद्र हैं- आचार्य रामचंन्द्रदास जी...

चित्रकूट: राम हमारी आस्था और विश्वास के केंद्र हैं- आचार्य रामचंन्द्रदास जी महाराज

  • चित्रकूट में सम्पन्न हुई श्रीराम राष्ट्रीय काव्यपाठ की प्रान्तीय प्रतियोगिता
  • बुन्देलखण्ड प्रान्त के 12 जिलों से आधा सैकड़ा प्रतिभागियों ने कार्यक्रम में किया सहभाग
  • राष्ट्रीय कवि संगम के बैनर तले सम्पन्न हुई प्रान्तीय प्रतियोगता
  • तुलसी की भूमि चित्रकूट बनेगा साहित्य का केंद्र- जगदीश मित्तल

चित्रकूट: धर्मनगरी चित्रकूट में राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा प्रान्तीय स्तर पर ‘श्रीराम राष्ट्रीय काव्यपाठ प्रतियोगिता’ का आयोजन भव्य तरीके से किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत के प्रथम सत्र में बुन्देलखण्ड प्रान्त के 12 जिलो के प्रतिभागियों द्वारा अपनी प्रस्तुति की गई। इसके बाद मुख्य अतिथि तुलसीपीठ के युवराज आचार्य रामचन्द्रदास महाराज ‘जय भइया’ और कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल, क्षेत्रीय अध्यक्ष शिवकुमार व्यास, प्रान्तीय संयोजक अनुज हनुमत, प्रान्तीय अध्यक्ष अजय अंजाम ने माँ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम के दूसरे सत्र की शुरुआत की। 

इस सत्र में गणमान्य अतिथियों द्वारा कार्यक्रम में मौजूद प्रतिभागियों को सम्बोधित किया गया। मुख्य अतिथि तुलसीपीठ युवराज आचार्य रामचन्द्रदास जी महाराज ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि चित्रकूट की पावन धरा हमेशा से ही वैश्विक स्तर पर वनवासी राम का प्रतिनिधित्व करती रही है और राम हमारी आस्था और विश्वास के केंद्र है। राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम आने वाले समय मे बुन्देलखण्ड को साहित्य का हब बनाने में मदद करेगा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल ने कहा कि भगवान राम के चरित्र के समूचे विश्व को नई दिशा दी है और चित्रकूट ने तक सम्पूर्ण समाज को वनवासी तपस्वी राम दिए । आने वाले दिनों में तुलसी बाबा की यह पावन भूमि साहित्य साधना का केंद्र बनेगी । उन्होंने बताया की राष्ट्रीय कवि संगम मौजूदा समय मे विश्व के सैकड़ो देशो में सक्रिय है और श्रीराम काव्यपाठ प्रतियोगिता समूचे देश में जिले और प्रान्तीय स्तर पर आयोजित हो रही है। प्रान्तीय स्तर पर विजयी प्रतिभागी राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली में आयोजित होने वाली प्रतियोगिता में भाग लेंगे। 

बुधवार को सम्पन्न हुई प्रान्तीय प्रतियोगिता में प्रथम स्थान उत्कर्ष पांडेय , द्वितीय स्थान निगार असलम और तृतीय स्थान रिमझिम द्विवेदी ने प्राप्त किया। सभी विजयी प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि तुलसीपीठ के उत्तराधिकारी आचार्य रामचन्द्रदास जी महाराज, राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल और प्रान्तीय संयोजक अनुज हनुमत ने पुरुस्कार देकर सम्मानित किया।

इस मौके पर क्षेत्रीय अध्यक्ष शिव कुमार व्यास ,प्रान्तीय सरंक्षक अमरनाथ दीक्षित, प्रान्तीय उपाध्यक्ष दीनदयाल सोनी, प्रान्तीय अध्यक्ष अजय अंजाम, प्रान्तीय महामंत्री पण्डित सुनील नवोदित, जिलाध्यक्ष चित्रकूट जय अवस्थी, जिलाध्यक्ष कानपुर गौरव द्विवेदी, जिलाध्यक्ष औऱया गोपाल पांडेय, जिलाध्यक्ष बांदा शिवप्रकाश सिंह, जिलाध्यक्ष कानपुर देहात रमाकांत त्रिपाठी, जिलाध्यक्ष झांसी रवि कुशवाहा, समाजसेवी अभिमन्यु भाई, सामाजिक कार्यकर्ता गणेश मिश्र, कहानीकार छाया सिंह, महंत मोहितदास जी महाराज, अजय मिश्र, अतुल द्विवेदी, शिवप्रेम यागयिक, अतुल द्विवेदी, अतुल रैकवार, अमन गुप्ता, कार्तिक पटेल, विनोद द्विवेदी सहित सैकड़ों गणमान्य अतिथि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

लखनऊ: जीआरपी ने मुकदमा दर्ज होने के 10 घंटे के अंदर तीन अभियुक्तगणों को किया गिरफ्तार

लखनऊ: 07दिसम्बर2021: राजधानी लखनऊ के स्टेशन चारबाग लखनऊ में रेलवे स्टेशन अधीक्षक कार्यालय से प्राप्त मेमो के आधार पर उपनिरीक्षक शाहआलम थाना जीआरपी...

उत्तरप्रदेश: ऊर्जा मंत्री ने दिए सभी डिवीजनों की टेक्निकल ऑडिट कराने के निर्देश

ऊर्जा मंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से की डिस्कॉम्स की समीक्षा टेम्पररी कनेक्शन्स की भी जांच के निर्देश अनियमितता पर कार्रवाई कर तय करें डिस्कॉम्स की जवाबदेही सही...

लखनऊ: नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर संविदा कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार

लखनऊ: 06दिसम्बर2021: राजधानी लखनऊ के इंदिरानगर स्थित नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर समस्त संविदा कर्मचारियों द्वारा कार्य बहिष्कार किया गया। अपनी 7 सूत्रीय मांगों...

Recent Comments