Home उत्तर प्रदेश उत्तरप्रदेश चुनाव: जानें पुराने चुनाव में किए गए खर्च का डिटेल न...

उत्तरप्रदेश चुनाव: जानें पुराने चुनाव में किए गए खर्च का डिटेल न देने पर 2022 के चुनावी मैदान में नहीं आ पाएंगे कितने कैंडिडेट्स

लखनऊ: 4 दिसम्बर2021: उत्तरप्रदेश में 2022 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में राज्य के कुल 257 लोग नहीं लड़ सकेंगे। केन्द्रीय चुनाव आयोग ने इन लोगों को चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य करार दे दिया है। चुनाव आयोग ने पिछले लोकसभा व विधानसभा चुनाव में इन लोगों द्वारा चुनाव लड़ने और परिणाम आने के एक महीने बाद समय से और सही ढंग से अपने चुनावी खर्च का ब्यौरा आयोग को नहीं दिया गया, जिसके बाद यह बड़ा फैसला आयोग द्वारा लिया गया है।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार इन 257 लोगों में से 34 लोग 2019 का लोकसभा का चुनाव लड़े थे,बाकी 213 लोग 2017 में विधान सभा चुनाव के प्रत्याशी थे।
हालांकि इन 257 लोगों में सर्वाधिक संख्या निर्दलीय उम्मीदवारों की ही है मगर कुछ प्रमुख राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों ने भी पिछले विधान सभा चुनाव के परिणाम आने के बाद अपने चुनावी खर्च का ब्यौरा आयोग को समुचित ढंग से नहीं दिया या बिल्कुल नहीं दिया। इन प्रमुख दलों में सर्वाधिक 12 उम्मीदवार राष्ट्रीय लोकदल के थे। इसके बाद छह उम्मीदवार पीस पार्टी के, पांच एनसीपी के, चार-चार उम्मीदवार सीपीआई और बसपा के थे। जबकि एआईएमआईएम के दो व निषाद पार्टी के दो उम्मीदवार थे। सीपीआईएमएल के भी दो उम्मीदार थे। कांग्रेस पार्टी के भी एक उम्मीदवार को चुनाव खर्च का विवरण न जमा किये जाने पर आयोग्य घोषित किया गया है। इन सभी को एक साल के लिए चुनाव लड़ने से रोका गया है यह अवधि अगले साल फरवरी-मार्च में होने वाले विधान सभा चुनाव के बाद ही खत्म होगी।

2022 में चुनावी खर्च पर भी होगी कड़ी निगरानी

मगर इस बार के चुनाव में आयोग ने प्रत्याशियों के चुनाव खर्च की रोजाना मानीटरिंग किये जाने के लिए चुनाव खर्च पर्यवेक्षक के साथ ही आयकर विभाग के अधिकारियों के विशेष जांच दल भी सक्रिय किये जाने की व्यवस्था की है। मतदाताओं को वोट के बदले नोट और शराब के प्रलोभन आदि दिये जाने की भी सख्त निगरानी की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

लखनऊ: 26 जनवरी को बाबा दीप सिंह जी का आगमन दिवस

कार्यक्रम का आयोजन शारीरिक दूरी का पालन करते हुए जिला प्रशासन द्वारा  जारी गाइडलाइन के अनुसार किया जाएगा एक हाथ में सिर और...

कौशाम्बी: तीन-तीन मौतों का जिम्मेदार भेजा गया जेल

तीन मौतों के जिम्मेदार युवक को अझुवा चौकी इंचार्ज विजेन्द्र सिंह ने गिरफ्तार कर भेजा जेल ससुराल की प्रताड़ना से त्रस्त होकर मां...

लखनऊ: जानें भारत निर्वाचन आयोग ने किन-किन अधिकारियों का तबादला किया व किनको चार्ज से ही हटाया

भारत निर्वाचन आयोग ने 03 जनपदों के जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी एवं 02 जनपदों के पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरित किया जनपद...

लखनऊ: जानिए कौन बने सहकारी संस्था इफको के नए अध्यक्ष

दिलीप संघाणी के इफको के अध्यक्ष निर्वाचित होने पर सहकार भारती ने जताई प्रसन्नता लखनऊ: देश के सहकारी नेता दिलीप संघानी को विश्व की अग्रणी...

Recent Comments